आदाब!

क्यूँ कहे जाते हो ग़ाफ़िल प्यार का
गीत गाना गुनगुनाना छोड़ दे
गो फ़साना दिल के लुटने का है पर
बात यह क्या के सुनाना छोड़ दे

-‘ग़ाफ़िल’

Advertisements